क्या IPL में VIVO की जगह ले पाएगा पतंजाली?

क्या आप जानते है बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि IPL 2020 में चीनी कंपनी VIVO की जगह लेना चाहती है। मतलब आईपीएल 2020 के टाइटल स्पॉन्सर की दौड़ में शामिल हो गई है। पतंजलि ने इसकी पुष्टि भी कर दी है। देखा जाये तोह वहीं, एमेजॉन, टाटा और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड भी IPL 2020 का टाइटल स्पॉन्सर बनना चाहती हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने IPL 2020 के टाइटल स्पॉन्सरशिप राइट्स के लिए 10 अगस्त से एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट (IOE) मांगे हैं।

इच्छुक पार्टियां 14 अगस्त तक अपने आवेदन भेज सकती हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक देक्ल्ह जाए तो, पंतजलि के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने कहा है, हम इस साल IPL की टाइटल स्पॉन्सरशिप हासिल करने के बारे में सोच रहे हैं। हम पतंजलि ब्रांड को एक वैश्विक मंच पर ले जाना चाहते हैं। इस संबंध में हम भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को एक प्रस्ताव भेजने की तैयारी कर रहे हैं।

क्या IPL में VIVO की जगह ले पाएगा पतंजाली

BCCI ने भी शनिवार यानी 8 अगस्त 2020 को इस पर मुहर लगा दी की चीनी मोबाइल फोन निर्माता कंपनी वीवो ने आईपीएल 2020 के लिए उसकी टाइटल स्पॉन्सरशिप नहीं करेगी। ऐसे में BCCI को IPL 2020 के टाइटल स्पॉन्सरशिप के लिए नए प्रायोजक की तलाश है। वहीं जियो Jio, Amazon, Tata Group, Dream11, Adani Group और Education Start-Up Byjus समेत कई नाम आईपीएल प्रायोजन राइट्स हासिल करने के संभावित उम्मीदवारों के तौर पर सामने आ रहे हैं।

बता दें कि वीवो (VIVO) टाइटल स्पॉन्सशिप के लिए हर साल BCCI को 440 करोड़ रुपये का भुगतान करता है। कोरोनावायरस के चलते इस समय बाजार की हालत बहुत बेकार है इसलिए बोर्ड भी समझता है कि एक साल के लिए कोई नई कंपनी शायद ही वीवो जितना ही भुगतान करे। सूत्रों की मानें तो बोर्ड को 180-200 करोड़ रुपए के बीच डील फाइनल होने की उम्मीद है।

नोएडा का सबसे बड़ा कोविड़-19 अस्पताल शुरू, सीएम योगी ने किया उद्घाटन

Related posts

Leave a Comment