विवादों के बीच 3 महीने के लिए टली WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी

WhatsApp टर्म एंड कंडीशंस को लेकर लोगों की बढ़ती नाराजगी के बीच फेसबुक (Facebook) के स्वामित्व वाले मैसेजिंग ऐप (Messaging App) ने घोषणा की है कि उसने प्राइवेसी अपडेट करने का अपना प्लान 3 महीने के लिए टाल दिया है. कंपनी का कहना है कि प्राइवेसी पॉलिसी (Privacy Policy) को लेकर यूजर्स में भ्रम है. इसलिए 3 महीने का समय देने से यूजर्स को पॉलिसी के बारे में जानने और उसकी समीक्षा करने के लिए ज्यादा वक्त मिलेगा.

WhatsApp ने बताया है कि लोगों के बीच फैली ‘गलत जानकारी’ से बढ़ती चिंताओं के कारण प्राइवेसी अपडेट (Privacy Update) को टालने का फैसला लिया गया है. WhatsApp ने ये भी कहा है कि प्राइवेसी पॉलिसी के आधार पर कभी भी अकाउंट को हटाने की योजना नहीं बनाई गई है और भविष्य में भी ऐसी योजना नहीं होगी.

कंपनी ने अपने बयान में कहा, ‘8 February को किसी को भी WhatsApp अकाउंट सस्पेंड (Account Suspend) या डिलीट नहीं करना होगा. WhatsApp पर प्राइवेसी और सिक्योरिटी कैसे काम करती है, इसके बारे में जानकारी देने के लिए हम और भी बहुत कुछ करने जा रहे हैं. 15 May को नया अपडेट ऑप्शन उपलब्ध होने से पहले हम अपनी पॉलिसी के बारे में लोगों का भ्रम दूर कर देंगे.’

इससे पहले कहा गया था कि WhatsApp 8 February   2021 को अपनी टर्म्स ऑफ सर्विस को अपडेट करने जा रहा है. अगर WhatsApp यूजर्स इससे एग्री नहीं होते हैं तो वे WhatsApp इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे. इसी वजह से कई मिलियन यूजर्स सिग्नल(Signal) और टेलीग्राम (Telegram) ऐप पर चले गए हैं. हालांकि कंपनी अब प्राइवेसी अपडेट प्लान को फिलहाल टाल दिया है.

क्यों हो रहा WhatsApp की नयी पॉलिसी का विरोध 

छोटे व्यापारियों के संगठन कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) का दावा है कि WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी (Privacy Policy) में यूजर्स के सभी तरह के डेटा का इस्तेमाल किया जाएगा. इसमें निजी जानकारियों से लेकर, लेनदेन की जानकारी, संपर्क, लोकेशन और अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां शामिल हैं, जिन्हें WhatsApp एकत्रित करेगी.

उसके बाद वह किसी भी प्रयोजन के लिए इसका उपयोग कर सकती है. उसका कहना है कि देश में WhatsApp, Facebook के करीब 40 करोड़ यूजर्स हैं. ऐसे में हर यूजर के डेटा तक पहुंच होने से ना सिर्फ देश की अर्थव्यवस्था पर गहरा संकट है. बल्कि यह देश की सुरक्षा के लिए भी घातक है.

WhatsApp का विकल्प तलाश रहे लोग, 72 घंटे में 25 Million बढ़े Telegram के यूजर्स

Related posts

Leave a Comment