बुढ़ापे में चाहिए हर महीने पेंशन? मोदी सरकार की इन 4 योजनाओं से जुड़ें

अगर आपको बुढ़ापे की चिंता है तो उसके लिए सरकार की कई योजनाएं हैं, जिसमें आप हर महीने थोड़ी राशि निवेश कर बुढ़ापे में पेंशन पा सकते हैं. इन योजनाओं से देशभर में लाखों लोग जुड़े चुके हैं. सरकार की कई गारंटी पेंशन स्कीम्स हैं. जिससे जुड़कर आप 60 की उम्र के बाद एक निश्चित राशि हर महीने पेंशन के तौर पर पा सकते हैं. आज हम आपको ऐसी 4 योजनाओं के बारे में बताने जा रहे हैं.

अटल पेंशन योजना

अटल पेंशन योजना (APY) सरकार की सबसे लोकप्रिय पेंशन स्कीम है. अगर आप सरकारी नौकरी में नहीं हैं तो आप इस योजना से जुड़ सकते हैं. केंद्र सरकार की इस योजना में निवेशकों को रिटायरमेंट के बाद 1,000 रुपये से लेकर 5,000 रुपये तक की गारंटीड मंथली पेंशन मिलती है. आप पोस्टऑफिस और बैंक में अटल पेंशन खाता खुलवा सकते हैं.

अटल पेंशन योजना में 18 से 40 साल के लोग ही अप्लाई कर सकते हैं, यानी जिनकी उम्र 40 साल से ज्यादा है वो इस योजना से नहीं जुड़ सकते हैं. अगर 18 साल का युवा अटल पेंशन योजना से जुड़ता है तो उसे 5000 Rs. पेंशन के लिए हर महीने 210 Rs. निवेश करना होगा. अगर निवेशक की उम्र 20 साल है उसे 60 की उम्र के बाद 1000 Rs. मासिक पेंशन चाहिए तो इसके लिए उसे 40 साल तक 50 Rs. का मासिक निवेश करना होगा. उम्र बढ़ने के साथ स्‍कीम की शुरुआत करने वाले खाताधारकों को निवेश की राशि अधिक देनी पड़ती है.

PM किसान मानधन योजना 

केंद्र सरकार ने किसानों के लिए पेंशन योजना के तौर पर किसान मानधन योजना शुरू की है. इस योजना में रजिस्ट्रेशन करवाने वाले किसानों को 60 की उम्र के बाद कम से कम 3000 Rs. पेंशन दी जाती है. ‘किसान मानधन योजना’ से अगर कोई 18 साल की उम्र से जुड़ते हैं तो उन्हें हर महीने 55 Rs. जमा करना होगा. जबकि 30 साल वाले को हर महीने 110 Rs. और अगर उम्र 40 साल है तो फिर हर महीने 200 Rs. भरना होगा. इस स्कीम में वही किसान आवेदन कर सकते हैं, जिनके पास अधिकतम 2 हेक्टेयर तक ही खेती योग्य जमीन हो.

कैसे खुलवाएं किसान मानधन योजना में खाता 

PM किसान मानधन योजना का लाभ उठाने के लिए किसान को कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा. रजिस्ट्रेशन के लिए आधार कार्ड और खसरा-खतौनी की नकल ले जानी होगी. स्कीम में आवेदक किसान को 55 Rs. से 200 Rs. के बीच हर महीने 60 साल की उम्र तक योगदान करना होता है. इस पेंशन कोष का प्रबंधन भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) करती है. PM किसान मानधन में जितना किसान प्रीमियम देंगे, उतना सरकार भी किसान के अकाउंट में जमा करती है.

PM श्रम योगी मानधन योजना

असंगठित क्षेत्र में काम करने वालों के लिए केंद्र सरकार की ‘प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना’ है. बुढ़ापे में आर्थिक सुरक्षा देने के लिए यह योजना शुरू की गई है. इस योजना से जुड़े लोगों को 60 साल की उम्र के बाद मंथली 3000 Rs. पेंशन मिलती है. इस योजना से कोई भी भारतीय नागरिक जुड़ सकता है, जिसकी उम्र 18 साल से 40 साल के बीच हो. इस योजना से जुड़ने के लिए मासिक आमदनी 15,000 Rs. से ज्यादा नहीं हो.

कौन नहीं हो सकता है एपीवाई में शामिल ?

ऐसे लोग जो आयकर के दायरे में आते हैं, सरकारी इम्प्लाई हैं या फिर पहले से ही EPF, EPS जैसी योजना का लाभ ले रहे हैं वे अटल पेंशन योजना का हिस्सा नहीं बन सकते.

अटल पेंशन योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप इस वेबसाईट पर जा सकते हैं :

https://npscra.nsdl.co.in/nsdl/scheme-details/APY_Scheme_Details.pdf

कौन बन सकता है स्कीम का हिस्सा?

यह योजना खासकर मेड, मोची, दर्जी, रिक्शा चालक, धोबी और मजूदर के लिए शुरू की गई है. अगर निवेशक की उम्र 18 साल है तो उसे इस योजना में हर महीने 55 Rs., 30 साल वाले को हर महीने 110 Rs. और 40 साल वाले हर महीने 200 Rs. जमा करने होंगे. अगर पेंशन मिलने से पहले ही लाभार्थी की मृत्यु होती है तो पेंशन का 50% हिस्सा उसके जीवनसाथी को रूप में दिया जाएगा.

देश में लगातार चौथे दिन 25 हजार से कम आए कोरोना केस, 24 घंटे में 29 हजार ठीक हुए

Related posts

Leave a Comment