ये हैं देश के Top 10 छोटे स्वच्छ और गंदे शहर, आइये देखते है

इस साल स्वच्छता सिटी सर्वे 2020 (Swachh Survekshan 2020) में 1 से 10 लाख की आबादी वाले शहरों में अंबिकापुर ने बाजी मारी है. वहीं, इस बार सबसे गंदा शहर बिहार का गया (Gaya) रहा जो रैकिंग में अंतिम 382 वें नंबर पर है. स्वच्छता सिटी सर्वे 2020 में जहां गया का स्कोर 737.74 है तो वहीं सबसे स्वच्छ शहर अंबिकापुर (Ambikapur) का स्कोर 5428.31 है. यह रैंकिंग 10 लाख से कम आबादी वाले शहर की है जिनकी संख्या देश में 382 है.

10 लाख से कम आबादी वाले शहरों में टॉप 10 स्वच्छ शहरों में है:-

  • अंबिकापुर (Ambikapur)
  • मैसूर (Mysuru)
  • न्यू दिल्ली (New Delhi)
  • चंद्रपुर (Chandrapur)
  • खरगोन (Khargone)
  • तिरुपति (Tirupati)
  • जमशेदपुर (Jamshedpur)
  • गांधीनगर (GandhiNagar)
  • धुले (Dhule)
  • राजनांदगांव (Rajnandgaon)

10 लाख से कम आबादी वाले शहरों में 10 गंदे शहर है:-

  • गया (Gaya)
  • बक्सर (Buxar)
  • अबोहर (Abohar)
  • भागलपुर (Bhagalpur)
  • परसा बाजार (Paras Bazaar)
  • शिलॉन्ग (Shillong)
  • इटानगर (Itanagar)
  • दिमापुर (Dimapur)
  • बिहार शरीफ (Bihar Sharif)
  • सहरसा (Saharsa)

10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में लगातार चौथे साल इंदौर (Indore), ओवरऑल देश का सबसे स्वच्छ शहर बना है. दूसरे नंबर पर गुजरात (Gujarat) का सूरत (Surat) और तीसरे नंबर पर नवी मुंबई (Navi Mumbai) है.

दयाबेन के बाद अब अंजलि मेहता ने छोड़ा तारक मेहता का उल्टा चश्मा

Related posts

Leave a Comment