अनलॉक 5.0 में अगले महीने से सिनेमाहॉल खोलने की तैयारी, जानिए क्या है फिल्म देखने का अनुभव

कोरोना महामारी के बीच पूरे देश में मूवी थिएटर 23 मार्च से बंद हैं। अनलॉक 4.0 की गाइडलाइंस 30 September को खत्म हो रही है। उम्मीद की जा रही है कि 1 October से नई गाइडलाइंस के साथ सिनेमा हॉल खोलने की अनुमति दी जाएगी। मल्टीप्लेक्स कंपनियों के साथ-साथ सिंगल स्क्रीन थिएटर्स में भी कोरोनावायरस से सेफ्टी को लेकर विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं।

पेपरलेस टिकट, सोशल डिस्टेंसिंग और लंबे ब्रेक…

  • मल्टीप्लेक्स कंपनियों के CEO का कहना है कि उन्होंने पेपरलेस टिकट, सीटों के बीच दूरी, लंबे ब्रेक और शो के बीच में सैनिटाइज करने की तैयारी की जाएगी।
  • मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ग्लोबल स्टैंडर्ड्स के आधार पर एसओपी (SOP) बनाकर केंद्र को पहले ही भेज चुका है, ताकि जल्द से जल्द थिएटर खुल सकें।
  • एसओपी में मास्क, थर्मल स्कैनिंग, सैनिटाइजर के साथ ही लॉबी-रेलिंग और दरवाजों की नियमित सफाई शामिल है।
  • साथ ही एक साथ दो स्क्रीन पर शो शुरू नहीं होंगे। इससे मल्टीप्लेक्स में भीड़ नहीं लगेगी और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा सकेगा।

मल्टीप्लेक्स कंपनियों ने क्या विशेष व्यवस्था की है?

  • मल्टीप्लेक्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने जो एसओपी बनाया है, उसे आईनॉक्स (Inox), सिनेपोलिस (Cinopolis), पीवीआर (PVR), कार्निवाल सिनेमा समेत सभी कंपनियां अपना रही हैं।
  • इसके अलावा, आईनॉक्स ने टिकट बुकिंग के लिए एसएमएस (SMS) व्यवस्था बनाई है। कस्टमर एंट्री पर ही क्यूआर कोड स्कैन कर सकेंगे।
  • आईनॉक्स (Inox) ने ही एक ऐसा अल्गोरिदम बनाया है कि सीट बुक होने के तुरंत बाद एक सीट खाली रहेगी। नई बुकिंग पर अगली सीट दी जाएगी।
  • पीवीआर (PVR) की बात करें तो उसने कस्टमर्स की सेफ्टी को प्राथमिकता देते हुए छह करोड़ रुपए का अलग से बजट तय किया है। इसमें सैनिटाइजर का खर्च भी शामिल है।

अरुणाचल प्रदेश : चीनी सेना ने अगवा किए पांच भारतीयों को रिहा किया

Related posts

Leave a Comment