सुप्रीम कोर्ट ने NEET-JEE परीक्षा कराने को दी हरी झंडी, कहा- क्या देश में सब कुछ रोक दिया जाए?

NEET और JEE परीक्षा रोकने से सुप्रीम कोर्ट ने परीक्षा कराने को दी हरी झंडी। कोरोना के चलते IIT-JEE और NEET परीक्षा स्थगित करने की मांग वाली याचिका कोर्ट ने खारिज कर दी है. याचिका में कोरोना के देखते हुए परीक्षा टालने की मांग की गई थी. JEE (मेन) की परीक्षा 1 से 6 सितंबर के बीच और NEET परीक्षा 13 सितंबर को होनी है.इस परीक्षा को स्थगित करने की मांग को लेकर 11 राज्यों के 11 छात्रों ने ये परीक्षाएं स्थगित करने के अनुरोध के साथ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी.

सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि क्या देश में सब कुछ रोक दिया जाए? एक कीमती साल को यूं ही बर्बाद न हो जाने दिया जाए? याचिकाकर्ता के वकील ने स्वास्थ्य को खतरे का हवाला दिया. लेकिन कोर्ट ने याचिका खारिज की और कहा, सुनवाई की ज़रूरत नहीं समझते. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के लिए पेश हुए सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि परीक्षा करवाना ज़रूरी है.

सुप्रीम कोर्ट ने NEET-JEE परीक्षा कराने को दी हरी झंडी

11 छात्रों की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में कहा गया था कि JEE (मेन) की परीक्षा 1 से 6 सितंबर के बीच और NEET की परीक्षा 13 सितंबर को करवाने की घोषणा की गई है. लेकिन अभी हालात सामान्य नहीं दिखाई दे रहे हैं. कोर्ट देश में कोरोना की स्थिति सुधरने तक परीक्षा का आयोजन न करने का आदेश दे.

बता दें कि देश भर में 15 लाख से अधिक छात्रों ने नीट परीक्षा के लिए अप्लाई किया है. यह परीक्षा भारत के चिकित्सा महाविद्यालयों में प्रवेश पाने का रास्ता है. वहीं 9 लाख से अधिक छात्रों ने JEE-Mains परीक्षा के लिए आवेदन किया है जिसके जरिये भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (IIT)को छोड़कर देश के अन्य सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश होता है.

रुस ने जीती करोना वैक्सीन की रेस – पुतिन की बेटी लगाया पहला डोज

Related posts

Leave a Comment