सोशल मीडिया पर JEE-NEET के खिलाफ कैंपेन : शिक्षामंत्री पर भड़के स्टूडेंट्स, कही यह बात

इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन के लिए होने वाली देश की सबसे बड़ी परीक्षा ज्वॉइंट एंट्रेंस एग्जाम (JEE)-मेन्स इस बार 1 से 6 सितंबर के बीच होनी है। वहीं, मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन के लिए होने वाली नीट यूजी (NEET UG) की परीक्षा 13 सितंबर को होगी। कोरोना महामारी के बीच ये परीक्षाएं करवाने का स्टूडेंट्स और पैरेंट्स विरोध कर रहे हैं।

सोशल मीडिया पर गुरूवार को #PostponeNEET_JEEinCovid टॉप 5 ट्रेंडिंग में रहा। दोपहर 12:30 बजे तक 1.26 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स इस हैशटेग (Hashtag) के साथ विरोध दर्ज करा चुके थे। इसके अलावा परीक्षा के विरोध में एक और हैशटेग #AntiStudentNarendraModi भी ट्रेंडिंग में रहा। इस हैशटेग के साथ 6 लाख से ज्यादा यूजर ट्वीट (Twitt) कर चुके हैं।

शिक्षा मंत्री ने कहा- साइलेंट मेजोरिटी परीक्षा चाहती है, इस पर स्टूडेंट्स भड़के

बुधवार को दिए एक इंटरव्यू में केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (Ramesh Pokhriyal) ने कहा था कि स्टूडेंट्स की साइलेंट मेजोरिटी चाहती है कि परीक्षा हो। निशंक ने यह भी कहा कि मुझे रोजाना अनगिनत मेल (Mail) ऐसे स्टूडेंट्स के आते हैं, जो इस मुद्दे पर कुछ नहीं बोल रहे। लेकिन, वे किसी भी सूरत में यह नहीं चाहते कि इस साल जीरो ईयर घोषित हो।

  • सोशल मीडिया पर #PostponeNEET_JEEinCovid टॉप 5 ट्रेंडिंग में है
  • शिक्षा मंत्री निशंक के ‘साइलेंट मेजोरिटी’ वाले बयान से स्टूडेंट्स में गुस्सा

सोशल मीडिया पर JEE-NEET के खिलाफ कैंपेन, शिक्षामंत्री पर भड़के स्टूडेंट्स बोले- अपनी वेबसाइट पर पोल कराकर देख लीजिए, पता चल जाएगा कितने बच्चे परीक्षा देना चाहते हैं.

पापा बनने वाले हैं विराट कोहली किया तस्वीर शेयर, अनुष्का ने फ्लॉन्ट किया बेबी बंप

Related posts

Leave a Comment