रिपब्लिक टीवी के फाउंडर अर्नब गोस्वामी गिरफ्तार, जानें क्या है मामला

आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में रिपब्लिक टीवी (Republic TV) के फाउंडर व कर्ता धर्ता अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) को रायगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. तड़के सुबह साढ़े 6 बजे रायगढ़ पुलिस और मुम्बई पुलिस (Mumbai Police) की एक टीम अर्नब गोस्वामी के घर पहुंची और हिरासत में लिया. अर्नब को घर से हिरासत में लेकर स्थानीय NM जोशी मार्ग पुलिस स्टेशन में कागज़ी कार्यवाही पूरा करने की जिम्मेदारी एनकाउंटर स्पेसलिस्ट सचिन वज़े को सौंपी गई थी.

आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला May 2018 का है. जब 53 साल के अन्वय नाइक (Anvay Naik) और उनकी मां कुमुद नाइक (Kumud Naik) ने अलीबाग के अपने बंगले में खुदकुशी कर ली थी. खुदकुशी के लिए अन्वय नाइक ने एक पत्र में 3 लोगों को जिम्मेदार ठहराया था. अन्वय के सुसाइड पत्र के मुताबिक अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami), फिरोज शेख (Feroz Sheikh) और नितैश सारडा (Nitesh Sarada) को जिम्मेदार बताते हुए लिखा था कि मेरे मेहनताने के 5 करोड़ 40 लाख रुपए नहीं मिले, जिसकी वजह से कर्ज में डूबा हूं.

अन्वय नाइक कॉन्कर्ड डिज़ाइन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी (Concord Design Private Limited Company) के मैनेजिंग डायरेक्टर थे. अन्वय की मां, कुमुद नाईक भी कंपनी में बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में थीं. कॉन्कर्ड डिज़ाइन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने Republic TV के स्टूडियो और दफ्तर के डिज़ाइन का काम किया था. अन्वय नाइक की पत्नी के मुताबिक, इस काम के बदले कॉन्कर्ड डिज़ाइन कंपनी ने जो बिल दिया था, उसका भुगतान रिपब्लिक टीवी ने नहीं किया. अन्वय के सुसाइड नोट के मुताबिक 5 करोड़ 40 लाख रुपए का भुगतान नहीं करने से उन्हें आर्थिक नुकसान हुआ और आर्थिक तंगी की हालत हो गई. उस वक़्त Republic TV ने यह स्पष्ट किया था की कॉन्कर्ड डिज़ाइन के साथ हुए करार के मुताबिक उन्हें पूरा भुगतान किया गया था.

इस खुदकुशी के बाद अन्वय की पत्नी की शिकायत और सुसाइड नोट के आधार पर अलीबाग पुलिस (Alibagh Police) ने आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया था. पर्याप्त सबूत नहीं मिलने और आरोपों में तथ्य न मिलने से रायगढ़ पुलिस (Raigarh Police) ने केस की क्लोजर रिपोर्ट फ़ाइल कर दी थी, जिसे कोर्ट ने स्वीकार किया था. May 2020 में महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने अन्वय नाइक की बेटी अदन्या नाइक की लिखित शिकायत पत्र के आधार पर एक बार फिर केस की जांच शुरू करने के आदेश दिए और मामला क्राइम ब्रांच को सौंप दिया.

आज तड़के सुबह अर्नब को उनके घर से गिरफ्तार किया गया. इस दौरान अर्नब ने आरोप लगाया कि मुंबई पुलिस ने उनके साथ मारपीट और बदसलूकी की है. अर्नब को अलीबाग के कोर्ट में पेश किया जाएगा.

इंडेन ने LPG सिलेंडर का बुकिंग नंबर बदला, अब देशभर के ग्राहक एक ही नंबर से 24×7 कर सकेंगे बुकिंग

Related posts

Leave a Comment