सूरत में कोरोना भगाने के लिए बर्फ डालकर नदी को ठंडा कर रहे

सुने में आ रहा है की लोग कोरोना से परेशान हो कर पता नहीं क्या क्या कर रहे है। कोरोना महामारी को खत्म करने के लिए लोग ने आपने तरीके के उपाए नकाले है। असम और बिहार के लोग ‘कोरोना देवी’ पूजा करते दिखाई दे रहे ह वही कही और कुछ और करते दिखाई दे रहे है।
पूजा से लेकर कई तरह के टोटके और मन्नतें करे जा रहे है। बता दें कि सूरत शहर तापी नदी के किनारे बसा हुआ है. ऐसे में सूरत के मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मन्नत रखी है कि अगर नदी को ठंडा रखा जाएगा तो शहर को कोरोना से बचाया जा सकेगा. बताया जा रहा है कि सूरत में अब हर दिन बहुत से लोग नदी के पास आते हैं और इसमें बर्फ डालते हैं।

कोरोना भगाने के लिए तापी नदी में बर्फ डाल रहे सूरत के लोग

सूरत में कोरोना भगाने के लिए बर्फ डालकर नदी को ठंडा कर रहे

बताया जाता है कि नदी को ठंडा रखने के लिए हर दिन 500 किलो बर्फ डालने को कहा गया है. इससे नदी का पानी ठंडा रहेगा और कोरोना का असर कम हो जाएगा. ऐसा ही एक मामला गुजरात के सूरत में सामने आया है। यहां के एक व्यापारी ने तापी नदी को रोज 500 किलो बर्फ से ठंडा करने की मन्नत रखी है। बर्फ डालते हुए व्यापारी के एक कर्मचारी ने कहा कि हमारे सेठ की ओर से एक हफ्ते में 3500 किलो बर्फ अर्पित की जा चुकी है।

न्यूजीलैंड में कोरोना वायरस की फिर से वापसी

Related posts

Leave a Comment