टेंशन में भगौड़ा नीरव मोदी, बीमारियों का हवाला देकर लंदन कोर्ट से मांगी बेल

भगौड़ा नीरव मोदी ने बीमारी का हवाला देकर लंदन कोर्ट से मांगी बेल

भगौड़े हिरा कारोबारी नीरव मोदी (Niraw Modi) ने लंदन कोर्ट (London Court) से सशर्त जमानत की मांग की है इन्समे कहा गया की उसको जमानत देकर भले ही घर में नजरबन्द कर दिया जाये । टेंशन में मोदी ने कोर्ट में याचिका दायर कर कहा की वह घबराहट और मानसिक तनाव से गुजर रहा है, इसलिए उसे बेल दे दी जाए ।भगौड़ा नीरव मोदी ने बीमारी का हवाला देकर लंदन कोर्ट से मांगी बेल

Nirav Modi इससे पहले भी लन्दन कोर्ट में चार बार जमानत याचिका लगा चूका है लेकिन कोर्ट ने हर बार याचिका को ख़ारिज कर दिया । बुधवार को उसने सशर्त जमानत की मांग की है और साथ ही कहा की भले ही उसे घर में नजरबन्द कर दिया जाए । भारतीय एजेंसियों ने क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस से कहा की अगर नीरव मोदी को जमानत मिल गई तो वह लंदन से भाग सकता है ।

PNB घोटाले का मुख्य आरोपी है नीरव मोदी

बता दे की नीरव मोदी पर मेहुल चोकीसी के साथ मिलकर 14,000 करोड़ रूपये की धोखाधड़ी करने का आरोप है । दोनों के खिलाफ मुंबई की विशेष अदालत में भी मामला चल रहा है । 4 हजार करोड़ रुपए के पंजाब नेशनल बैंक (PNB) स्कैम के मुख्य आरोपी नीरव मोदी (Nirav Modi) पर सीबीआई और परवर्तन निदेशलय जाँच कर रहे है ।  नीरव मोदी की साजिश की वजह से पीएनबी बैंक की आर्थिक रफ्तार रुक गई थी. शेयर लुढ़क कर जमीन पर पहुंच गया था. मामले का खुलासे होते ही हड़कंप मच गया था |

कोर्ट नीरव के प्रत्यर्पण पर कर रही है सुनवाई

कोर्ट 11 से 15 मई 2020 तक चलने वाली प्रत्यर्पण केस की सुनवाई कर रही है. ब्रिटेन के कानून के तहत प्रत्यर्पण मुकदमा लंबित रहने तक हर 28 दिन में सुनवाई करना जरूरी है. नीरव मोदी को इसी साल मार्च में गिरफ्तार किया गया था, तब से वह दक्षिण-पश्चिम लंदन के वैंड्सवर्थ जेल में बंद है.

Related posts

Leave a Comment