दिल्ली में 31 दिसंबर और 1 जनवरी की रात 11 बजे से नाइट कर्फ्यू, नए साल के जश्न पर पाबंदी

कोरोना महामारी के चलते राजधानी में नए साल जश्न पर पाबंदी लगाई गई हैं. दिल्ली में 31 दिसंबर और 1 जनवरी की रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू रहेगा. DDMA ने Covid को देखते हुए नए साल के जश्न को लेकर होने वाली भीड़ के कारण ये ऑर्डर जारी किया है. पब्लिक प्लेस पर 5 लोगों से ज्यादा भीड़ इकठ्ठी नहीं हो सकती. नए साल के किसी भी जश्न और सेलिब्रेशन या प्रोग्राम की इजाजत नहीं होगी. लाईसेंसी प्लेस पब्लिक प्लेस के दायरे में नहीं आएंगे.

साल 2020 का आज आखिरी दिन है. ये पूरा साल कोरोना महामारी की भेंट चढ़ गया. दुनिया के कई देशों और भारत के अलग-अलग राज्यों में कई सारी पाबंदियों के बीच नए साल का स्वागत करना होगा.

दिल्ली में नए साल के जश्न पर कड़ी निगरानी रखने का निर्देश

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों को नए साल के जश्न के लिए होने वाले आयोजनों पर कड़ी निगरानी रखने का निर्देश दिया है. उसका मानना है कि ऐसे आयोजन Covid-19 महामारी के लिए संभावित सुपर स्प्रेडर साबित हो सकते हैं. मंत्रालय ने सर्दियों के मौसम में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के मद्देनजर भीड़ इकट्ठा होने पर भी रोक लगाने को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए हैं. राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को लिखे एक पत्र में स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि पिछले साढ़े 3 महीने से देश में Corona Virus संक्रमण के मामलों में तेजी से गिरावट दर्ज की गई है.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अपने आंकलन के अनुरूप स्थानीय स्तर पर प्रतिबंध लगाने जैसे, रात के समय निषेधाज्ञा लागू करने आदि का अधिकार दिया है ताकि Corona Virus के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके. हालांकि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने यात्रियों और सामानों की राज्यों के भीतर या एक से दूसरे राज्यों में आवाजाही पर कोई रोक नहीं लगाई है. राज्यों का इस ओर ध्यान आकर्षित करते हुए स्वास्थ्य सचिव ने उनसे आग्रह किया है कि स्थानीय स्थितियों का आकलन करने के बाद वे 30 दिसंबर से 01 जनवरी तक उचित कार्रवाई कर सकते हैं.

ऑक्सफोर्ड कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल को ब्रिटेन में मिली मंजूरी, भारत में भी बढ़ी उम्मीद

Related posts

Leave a Comment