MP Vyapam Scam- एमपी एसटीएफ (STF) ने Vyapam घोटाला पर दर्ज की 4 नई FIR

MP Vyapam Scam- एमपी एसटीएफ (STF) ने Vyapam घोटाला पर चार और नई FIR दर्ज की  है |

एमपी एसटीएफ (MP STF) ने अब पुलिस भर्ती परीक्षा में हुए फर्जीवाड़े को लेकर एसआईआर (FIR) दर्ज की है सोमवार को कुल चार नई FIR दर्ज की गई जिमे एक पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा और 3 एसआईआर पीएमटी परीक्षा फर्जीवाड़े में दर्ज की है

मध्य प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने सोमवार को व्यापम विसंगतियों पर चार और उम्मीदवारों की बुकिंग की। उनमें से एक बृजेंद्र रावत को पुलिस ने 2013 की पुलिस भर्ती परीक्षा (Police recruitment exam) के सिलसिले में बुक किया है | अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एसटीएफ) अशोक अवस्थी, ने मीडियाकर्मियों को बताया कि परीक्षार्थी के नमूना हस्ताक्षर और परीक्षा के ओएमआर शीट पर अंकित उसके हस्ताक्षर में बेमेल पाया गया।MP Vyapam Scam- एमपी एसटीएफ (STF) ने व्यापम घोटाला पर दर्ज की 4 नई FIR

Vyapam Scam Bhopal- अभी तक एसटीएफ ने Vyapam Scam (व्यापम घोटाला) मामले में 10 एसआईआर दर्ज कर चुकी है । सबसे ज्यादा FIR पीएमटी (PMT) परीक्षा में दर्ज की गई है । PMT में अधिकांश आरोपी एमबीबीएस डॉक्टर है इन आरोपियों में कई डॉक्टर सरकारी अस्पताल में नौकरी कर रहे है । भोपाल जिला कोर्ट (Bhopal District court) दो आरोपी डॉक्टरों की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर चुका है |

MP Vyapam घोटाला मामले में दर्ज हुई 4 नई FIR

एसटीएफ एडीजी अशोक अवस्थी ने बताया कि अभी तक 10 मामलों में एफआईआर दर्ज की गई है. आज 4 नई एफआईआर दर्ज हुई है, जिसमें पहले मामले में पुलिस आरक्षक भर्ती 2013 केस में आरक्षक बिजेंद्र राव और अन्य को आरोपी बनाया गया है. उन्होंने बताया कि इस मामले की जांच की गई, तो पता चला कि आरोपी बिजेंद्र राव ने दलाल और स्कोरर की मदद से परीक्षा पास की है. बिजेंद्र के हस्ताक्षर नमूना और हस्तलेख उत्तर पुस्तिका में किए गए हस्ताक्षर और हस्तलेख अलग-अलग हैं. बिजेंद्र रावत ने व्यापमं द्वारा आयोजित पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा 2013 में स्कोरर और दलाल को पैसे देकर अनुचित तरीके से षडयंत्रपूर्वक परीक्षा पास की. बिजेंद्र नौकरी कर रहा है. एसटीएफ ने उसे नोटिस भेजकर बयान के लिए तलब किया है |

व्यापमं के अधिकारियों को नोटिस भेजा

एसटीएफ एडीजी अशोक अवस्थी ने बताया कि Vyapam के अधिकारी और परीक्षाओं को आयोजित करने वाले लोगों को नोटिस भेजे गए हैं। जिन केसेस में एफआईआर दर्ज की गई, उनमें अभी तक व्यापमं स्तर पर चूक सामने आई है। विभागीय स्तर पर भी जांच चल रही है। जिन अधिकारियों को नोटिस भेजा गया है, उनमें अधिकांश तत्कालीन अधिकारी शामिल हैं, जिनकी जिम्मेदारी में कई परीक्षाएं हुई थीं।197 शिकायतों की जांच कर रही है एसटीएफ

MP एसटीएफ 197 लंबित शिकायतों की जांच कर रही है। यह शिकायतें जब एसटीएफ से केस सीबीआई ने अपने हैंडओवर लिया था, तब सभी को वापस एसटीएफ को कर दिया गया था। दरअसल सीबीआई ने केवल दर्ज मामलों को ही हैंडओवर में शामिल किया था। तब से यह शिकायतें लंबित है। कमलनाथ सरकार ने व्यापमं घोटाले (vyapam Scam) की जांच के निर्देश दिए थे । इसी निर्देश का पालन करते हुए एसटीएफ सीबीआई के द्वारा दर्ज एफआईआर और उसकी कार्यवाही में किसी तरह का दखल नहीं दे रहीहै। लेकिन एसटीएफ उन लंबित शिकायतों की जांच जरूर कर रही है। इन्हीं शिकायतों की जांच के बाद एसटीएफ ने अभी तक 10 अलग-अलग एफआईआर दर्ज की है।

Related posts

Leave a Comment