महाराष्ट्र में 1 जुलाई से स्कूल और कॉलेज खोलने का फैसला

कोरोना वायरस के कारण, जहां देश में एक तरफ सभी जगह लोखड़ौन है. वहीं महाराष्ट्र सरकार ने 1 जुलाई से स्कूल और कॉलेज खोलने का ऐलान किया है. राज्य सरकार के फैसले के अनुसार, महाराष्ट्र ने 1 जुलाई से नॉन-रेड जोन वाले क्षेत्रों में जूनियर कॉलेजों के साथ-साथ कक्षा 9वीं से 12वीं तक के स्कूलों को फिर से खोलने का फैसला किया है. वहीं अगस्त में 6 से 8 तक की कक्षाएं फिर से खुलेंगी.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एक बैठक में यह निर्णय सोमवार शाम को लिया, जिसमें स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ और अन्य अधिकारियों ने भी भाग लिया था. बता दें, जबकि भारत में कोरोना वायरस के केस 3.50 लाख तक है. महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मामले हैं. बैठक के बाद एक सर्कूलर जारी किया गया था जिसमें कहा गया था कि “रेड जोन क्षेत्र में स्थित स्कूल 9, 10 और 12 की कक्षाएं 1 जुलाई से शुरू नहीं कर सकते हैं” जबकि “6 वीं से 8 वीं कक्षा की कक्षाएं अगस्त से शुरू होंगी”.

महाराष्ट्र में 1 जुलाई से स्कूल और कॉलेज खोलने का फैसला

“हालांकि कुछ क्षेत्रों में स्कूल नहीं खुलेंगे, शिक्षण की प्रक्रिया को रोका नहीं जा सकता है. छात्रों के साथ संपर्क बनाने के लिए डिजिटल प्रौद्योगिकी का उपयोग अपनाया जाना चाहिए,” शिक्षा मंत्री गायकवाड़ ने कहा कि सरकार ऑल इंडिया रेडियो (AIR) नेटवर्क का उपयोग करने की कोशिश कर रही है ताकि सेलेबस संबंधित जानकारी महाराष्ट्र के छात्रों तक अच्छे से पहुंच सके.

PTI के अनुसार, “कक्षा 1 और 2 की कक्षाओं को ऑनलाइन शिक्षण से छूट दी गई है. हालांकि, बाकी मानकों के लिए प्रति सप्ताह कुछ घंटे निर्धारित किए गए हैं.” हालांकि, कुछ शिक्षकों और प्रिंसिपलों की यूनियनों ने मांग की है कि कोरोना वायरस मामलों की उच्च संख्या के कारण अगस्त से सभी स्कूलों को फिर से खोला जाना चाहिए.

देश की पहली मोबाइल लैब लॉन्च, इससे रोजाना 300 से ज्यादा कोरोना टेस्ट हो सकेंगे

Related posts

Leave a Comment