जयपुर निवासी इंडियन ऑयल मैनेजर ने अपनी पत्नी और बेटे कि हत्या की

Indian Oil manager, Jaipur resident murdered his wife and son- जयपुर शहर मे मंगलवार को श्वेता  नामक महिला की हत्या हुई, हत्यारे ने उसके बेटे श्रीयम को अगवा कर लिया, 22 घंटे बाद बच्चे का शव जंगल में मिला था|

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, पति रोहित तिवारी ने ही पत्नी और बेटे की हत्या की साजिश रची, परिचित को पैसे का लालच दिया था

मंगलवार को घटित एक माँ और उसके 21  महीने के बच्चे की हत्या का मामला सामने आया जिसने पुरे जयपुर शहर को जेहशत मे  डाल दिया था।  सूत्रों  के मुताबिक पुलिस ने इस केस मे  आरोपी को पकड़ लिया है और वह कोई और नहीं बल्कि उस महिला (श्वेता )का पति (रोहित) ही था |

jaipur murder case
jaipur murder case

इंडियन ऑयल के मैनेजर ने ही पत्नी और 21 महीने के बेटे की हत्या करवाई, बोला- नए सिरे से जिंदगी शुरू करने के लिए ऐसा किया ”

पुलिस ने जयपुर शहर की पॉश सोसाइटी यूनिक टॉवर में हुए दोहरे हत्याकांड का खुलासा कर दिया है। इंडियन ऑयल के मैनेजर रोहित तिवारी(Rohit Tiwari) की पत्नी श्वेता (Shweta) और उसके 21 महीने के बेटे श्रीयम (Shriyam)को मंगलवार को बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया गया था। कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव (Anand Srivastava) ने बताया कि पूछताछ में रोहित ने जुर्म कबूल कर लिया। उसने बताया कि पत्नी से छुटकारा पाने के लिए साजिश रची। रोहित ने नए सिरे से जिंदगी शुरू करने के लिए पत्नी-बेटे की हत्या की साजिश रची थी। इसके लिए उसने एक जानकार के साले को हत्या के एवज में पैसों का लालच दिया। 3 दिन जांच के बाद शुक्रवार को पुलिस ने मैनेजर और हत्याएं करने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

” Commissioner Anand Srivastava said that ‘Rohit confessed to the crime during the interrogation. He told that he conspired to get rid of his wife. Rohit conspired to kill wife and son to start life afresh. For this, he lured the brother-in-law of an expert to pay for the murder. ‘ After a 3-day investigation, on Friday, the police arrested the manager and the accused who carried out the killings.”

जाने इस  दोहरे  हत्याकांड का पूरा सच

पुलिस के मुताबिक, रोहित ने अपने परिचित के साले सौरभ उर्फ राजसिंह से श्वेता और श्रीयम की हत्या करवाई। साजिश के तहत सौरभ ने फ्लैट में श्वेता और श्रीयम की हत्या की। फिर रोहित ने पुलिस के सामने बेटे के अगवा होने का नाटक किया। उसने गुमराह करने के लिए हत्यारे की ओर से बेटे को छोड़ने के एवज में 30 लाख रु. फिरौती मांगने की झूठी कहानी गढ़ी। इसी दौरान श्रीयम का शव सोसाइटी के पीछे जंगल में मिला। इसके बाद भी फिरौती के लिए मैसेज आने से पुलिस का शक रोहित पर गहराता गया। बाद में उससे सख्ती से पूछताछ और साइबर सेल से मिली जानकारी के आधार पर वारदात की गुत्थी सुलझ पाई।

वारदात के वक्त मैनेजर की लोकेशन ऑफिस में मिली थी

रोहित का पत्नी से मनमुटाव दिनों-दिन बढ़ता जा रहा था। श्वेता के पिता ने भी पुलिस को बताया था कि 5 जनवरी को दोनों (श्वेता-रोहित) के बीच मारपीट हुई थी। इस दौरान रोहित ने पत्नी को मारने की धमकी दी थी। पुलिस को शुरुआत से ही रोहित पर साजिश रचने का संदेह था। लेकिन वारदात के वक्त उसकी लोकेशन जयपुर एयरपोर्ट स्थित आईओसीएल ऑफिस में ही आ रही थी। पत्नी की हत्या और बेटे के अगवा होने की सूचना मिलने के बाद ही रोहित फ्लैट पर पहुंचा था।

सांगानेर से फोन खरीदकर श्वेता के मोबाइल की सिम डाली थी

पुलिस को शक था कि दोहरे हत्याकांड में रोहित के अलावा कोई और भी शामिल है, जो कि परिचित है। बच्चे का शव मिलने के बाद साफ हो गया कि हत्यारे ने वारदात के बाद सांगानेर में एक दुकान से सस्ता मोबाइल खरीदा था। श्रीयम के अपहरण और फिरौती की कहानी गढ़ने के लिए नए मोबाइल में श्वेता के फोन की सिम लगाकर फिरौती के लिए मैसेज किए थे। तब पुलिस के सामने दो सवाल थे- किसी अनजान के पास रोहित का मोबाइल नंबर कैसे पहुंचा? क्या वह पुलिस को गुमराह करने के लिए अपहरण और फिरौती के मैसेज कर रहा है?

Disclaimer: All information is gathered from various internet sources.

Source: bhaskar.com

Related posts

Leave a Comment