चीन में बढ़ा SARS वायरस का प्रकोप, भारत के बाद अमेरिका भी सतर्क

चीन में बढ़ा SARS वायरस का प्रकोप, अब तक 4 लोगों की मौत

बीजिंग। चीन में एक बार फिर से सीवर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम यानी सार्स वायरस (SARS वायरस) का प्रकोप है। इस बीमारी से अब तक 4 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। ऐसे में राष्ट्रपति शी जिनपिंग (शी जिनपिंग) की चिंता बढ़ गई है। जिनपिंग ने इस वायरस को ओवर में करने के लिए सभी आवश्यक उपाय करने का आदेश दिया है।

चीन की राजधानी बीजिंग कई शहरों में फैले इस वायरस के संक्रमण से 220 से अधिक लोग प्रभावित हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि यह वायरस संक्रामक है और तेजी से फैल सकता है। चीन में फैल रहे इस वायरल न्यूमोनिया के बाद जहां भारत ने समीक्षा जारी कर दी है। वहीं, इससे डरे अमेरिका ने वुहान से आने वाले यात्रियों की वीजा पर स्क्रीनिंग शुरू कर दी गई है। टर्मिनल पर चेकिंग के लिए विशेष रूप से अधिकारी लगाए गए हैं।

SARS वायरस अन्य एशियाई देशों में भी…

संक्रामक रोगों पर चीन के एक शीर्ष विशेषज्ञ ने सार्स जैसे वायरस के मनुष्यों के बीच संक्रमण की पुष्टि की है जो देशभर में फैल गई है और तीन अन्य एशियाई देशों में भी पहुंच गई है। चीनी अधिकारियों ने कहा कि वुहान शहर में कोरोनोवायरस संक्रमण के कारण इस सप्ताह के अंत में चौथी मौत हुई।

लोगों की चिंता बड़ी

बता दें कि चीन में 24 जनवरी से नए साल का त्योहार शुरू हो रहा है। इस दौरान लाखों लोग देश के भीतर और दूसरे देशों की यात्रा करते हैं। ऐसे में सार्सिस वायरस (SARS वायरस) के संक्रमण को लेकर लोगों की चिंता बढ़ गई है।

सार्स क्या है?

डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, सार्स्रीट की एक बीमारी है, जो कोरोनावायरस से होती है। ये वायरस सी-फूड से जुड़ा है। कोरोनावायरस विषाणुओं के परिवार का है। यह वायरस ऊंट, बिल्ली या चमगादड़ सहित कई जानवरों में भी प्रवेश कर रहा है।

What is SARS?
According to the WHO, there is a disease of sarsreet, which is caused by coronavirus. This virus is associated with c-food. The coronavirus belongs to the family of viruses. The virus is also entering many animals, including camels, cats or bats.”

Symptoms of Corona Virus

These symptoms are commonly seen in patients with coronavirus, such as cold, cough, sore throat, difficulty in breathing, fever. These symptoms then change into pneumonia and damage the kidneys. So far, no vaccine has been made to get rid of this virus.

ये लक्षण कोरोना वायरस के रोगियों में आमतौर पर जुखाम, खांसी, गले में दर्द, सांस लेने में कठिनाई, बुखार जैसे लक्षण लक्षण देखे जाते हैं। इसके बाद ये लक्षण न्यूमोनिया में बदल जाते हैं और किडनी को नुकसान पहुंचते हैं। अभी तक इस वायरस से निजात पाने के लिए कोई वैक्सीन नहीं बनी है।

See the report of SARS IN JAPAN

Disclaimer: All information is given for awareness of people and gathered from various internet sources.

Source: news18.com

Related posts

Leave a Comment