कोरोना से स्टूडेंट को सुरक्षा: जेईई के परीक्षा केंद्र में, कॉन्टैक्ट, ट्रेवल हिस्ट्री बताने पर ही देंगे प्रवेश

संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE) 1 से 6 सितंबर तक होगी। इसमें शामिल होने वाले प्रतिभागियों के लिए सुरक्षित बनाने के लिए National Testing Agency (NTA) द्वारा कड़े प्रबंध किए जा रहे हैं। परीक्षा के पहले और बाद में हॉल सैनिटाइज किया जाएगा। तापमान जांचने के अलावा दो सीटों के बीच दूरी, हैंड सैनिटाइजर, प्रत्येक प्रतिभागी के लिए मास्क भी एग्जाम हाॅल में सभी को उपलब्ध करवाए जाएंगे।

सुरक्षा को पुख्ता बनाने के लिए NTA ने प्रवेश पत्र के साथ एक Self Declaration Form भी उपलब्ध करवाया है। हॉल में प्रवेश के वक्त हर प्रतिभागी को यह अंडरटेकिंग देना जरूरी होगा। प्रतिभागियों को सर्दी, खांसी, बुखार सहित कोरोना के किसी भी लक्षण की जानकारी देना होगी। छात्रों को पिछले 14 दिनों में किसी कोरोना संक्रमित से संपर्क और यात्रा की जानकारी भी दर्ज करवाना होगी।

jee-exam-guidelines

एक्सपर्ट Vijit Jain ने बताया कोरोना संक्रमित छात्र किसी भी स्थिति में परीक्षा नहीं दे सकेंगे। सभी छात्रों को कोरोना लक्षण संबंधी जानकारी देना जरूरी है। कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन नहीं करने वालों को ही प्रवेश देंगे।

  • सुरक्षा को पुख्ता बनाने के लिए एनटीए ने प्रवेश पत्र के साथ एक सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म भी उपलब्ध करवाया है.
  • प्रतिभागियों को सर्दी, खांसी, बुखार सहित कोरोना के किसी भी लक्षण की जानकारी देना होगी.
  • Admit Card, ID Card, Ball Pen, Water Bottle ले जा सकेंगे.

परीक्षा के हर स्लॉट के पहले और बाद में सेंटर पर हॉल के साथ छात्रों की टेबल-कुर्सी के साथ की-बोर्ड, माउस, वेबकेम सहित अन्य चीजें सैनिटाइज की जाएगी। हालांकि NTA ने छात्रों को 50 एमएल सैनिटाइजर साथ लाने के लिए कहा है। पूरी प्रक्रिया को टच फ्री बनाने का प्रयास भी एनटीए कर रहा है।

सुप्रीम कोर्ट का फैसला – सुशांत सिंह सुसाइड केस में CBI करेगी जांच

Related posts

Leave a Comment