कोरोना के इलाज के लिए सरकार ने दी मंजूरी, ग्लेनमार्क की दवा फेबिफ्लू को

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के बीच कोरोना मरीजों के इलाज के लिए अब दवा कंपनी ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स की दवा को इस्तेमाल किया जाएगा. ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स दवा को सरकार से मंजूरी भी मिल गई है. कोरोना के हल्के लक्षण वाले मरीजों को अब ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स की दवा दी जा सकेगी.

कंपनी ने बताया कि ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने कोरोना वायरस के पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए एंटीवायरल दवा फेविपिराविर को फेबीफ्लू ब्रांड नाम से पेश किया है . ग्लेनमार्क को 19 जून को केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की ओर से फेविपिराविर या फेबीफ्लू के विनिर्माण और विपणन के लिए मंजूरी दी गई है.

कोरोना के इलाज के लिए ग्लेनमार्क की दवा फेबिफ्लू को सरकार ने दी मंजूरी

जब भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण ने रफ्तार पकड़ ली है तभी इसी दवा को मंजूरी मिली है . पहले की तुलना में भारत में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या चार लाख के करीब पहुंच चुकी है. वहीं कंपनी ने कहा कि यह दवा चिकित्सक की सलाह पर मिलेगी.

कंपनी ने उम्मीद जताई कि इस दवा से कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज को लेकर मौजूदा दबाव को काफी हद तक कम करने में मदद मिलेगी. कंपनी का कहना है कि कोरोना वायरस के हल्के संक्रमण से पीड़ित मरीजों पर इस दवा ने अच्छे नतीजे दिए हैं.

महाराष्ट्र में 1 जुलाई से स्कूल और कॉलेज खोलने का फैसला

Related posts

Leave a Comment