बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव को चारा घोटाला मामले में मिली जमानत, लेकिन अभी भी जेल से रिहाई नहीं

चारा घोटाले से संबंधित चाईबासा ट्रेजरी मामले में बिहार के पूर्व सीएम और आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) को झारखंड हाई कोर्ट ने जमानत दे दी है. हालांकि, लालू यादव अभी जेल में ही रहेंगे क्योंकि दुमका कोषागार मामला अभी लंबित है.

लालू यादव चारा घोटाले के तीन विभिन्न मामलों में 14 साल तक की कैद की सजा पाने के बाद 23 December, 2017 से इलाज के लिए न्यायिक हिरासत में झारखंड के सबसे बड़े चिकित्सा संस्थान राजेन्द्र आयुर्विग्यान संस्थान (RIIMS) में भर्ती हैं. कुछ महीने पहले लालू को कथित तौर पर कोरोना वारयस संकट से बचाने के लिए रिम्स निदेशक के बंगले में शिफ्ट कर दिया गया है.

मालूम हो कि सितंबर 2013 में चारा घोटाले के पहले मामले में दोषी करार दिये जाने के बाद वह 2014 में जमानत पर रिहा हुए लेकिन एक बार फिर 23 दिसंबर, 2017 को लालू चारा घोटाले के एक अन्य मामले में सजा सुनाये जाने के बाद बिरसामुंडा जेल भेजे गये और तब से वह जेल में ही बंद हैं. फिलहाल लालू न्यायिक हिरासत में रिम्स में इलाज करा रहे हैं.

नहीं रहे रामविलास पासवान, बिहार की दलित राजनीति को दिया था नया व्याकरण

Related posts

Leave a Comment