Pune : Covishield बना रहे सीरम इंस्टीट्यूट के नए प्लांट में लगी आग

देश को कोरोना वैक्सीन देने वाली सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) के लिए बुरी खबर है. पुणे में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के टर्मिनल गेट 1 के अंदर SEZ 3 बिल्डिंग की चौथी और 5वीं मंजिल पर आग लगी है. मौके पर दमकल की 10 गाड़ियां पहुंच चुकी है.

दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन निर्माताओं में से एक Serum Institute of India में जहां कोरोना की वैक्सीन तैयार की जा रही है वो जगह पूरी तरह सुरक्षित है. Serum Institute of India ने बताया है कि यह आग एक निर्माणाधीन बिल्डिंग में लगी है और इससे वैक्सीन निर्माण पर कोई असर नहीं पड़ा है. बता दें कि हाल ही में वैक्सीन बनने के बाद SII में जश्न का माहौल रहा. कर्मचारियों ने साथ इकट्ठा होकर तस्वीरें खिंचवाई, जश्न मनाया. इसमें सीरम इंस्टीट्यूट के प्रमुख अदर पूनावाला भी मौजूद रहे.

वैक्सीन की डिस्ट्रीब्यूशन की प्लानिंग पर पूनावाला ने बताया कि असली चरण अब शुरू होने वाला है. टीम ने मेहनत करके वैक्सीन तो बना ली है, परमिशन भी पा ली है, अब चैलेंज है कि पूरे देश के इसे लोगों तक पहुंचाना है. पूनावाला ने यह भी स्पष्ट किया कि उनकी कंपनी सरकार के संग मिलकर यह प्राथमिकता तय कर रही है कि पहले हेल्थ केयर वर्कर, उम्रदराज लोगों और बीमारियों से ग्रसित लोगों को वैक्सीन दी जाए.

वहीं अब सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) कोरोना वायरस के खिलाफ चार और वैक्सीन पर काम कर रहा है. सीरम इंस्टीट्यूट के कार्यकारी निदेशक सुरेश जाधव ने यह जानकारी दी. जाधव ने एक वेबिनार में बताया कि कंपनी Covishield समेत कोरोना वायरस के पांच टीके पर काम कर रही है. कोविशील्ड के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है और टीकाकरण अभियान में यह वैक्सीन लगाई भी जा रही है. जाधव ने बताया कि 3 वैक्सीन क्लीनिकल अध्ययन की विभिन्न चरणों में हैं, जबकि एक वैक्सीन अभी ट्रायल के प्री-क्लीनिकल चरण में है.

टीका लगवाने के बाद आपको क्या करना चाहिए और किन बातों से बचना चाहिए

Related posts

Leave a Comment