29 सप्ताह से बॉक्स ऑफिस का कलेक्शन जीरो, अगर थिएटर खुलते तो करीब 3200 करोड़ की कमाई होती

कोरोनावायरस के चलते हुई सिनेमाघरों की तालाबंदी को लगभग 7 महीने बीत चुका है। 13 मार्च को आखिरी फिल्म ‘अंग्रेजी मीडियम’ पर्दे पर रिलीज हुई थी और इसी दिन से कई राज्यों में थिएटर्स बंद कर दिए गए थे। इस दौरान कई मेकर्स अपनी फिल्मों को OTT Platform पर ले गए। लेकिन ज्यादातर अब भी सिनेमाघर खुलने का इंतजार कर रहे हैं और इसके चलते हिंदी फिल्मों का करीब 3200 करोड़ रुपए का कलेक्शन अटका हुआ है।

बड़ी फिल्मों का 1500 करोड़ का कलेक्शन अटका

ट्रेड एनालिस्ट और 40 साल से डिस्ट्रीब्यूशन में सक्रिय राज बंसल की मानें तो इन 7 महीनों में ‘सूर्यवंशी’, ’83’, ‘कुली नं. 1’, ‘लक्ष्मी बॉम्ब’, ‘राधे: योर मोस्ट वांटेड भाई’, ‘भुज : द प्राइड ऑफ इंडिया’, ‘द बिग बुल’ और ‘सड़क 2’ जैसी कई बड़ी हिंदी फिल्में पर्दे पर आतीं और सिर्फ इन फिल्मों का कुल कलेक्शन करीब-करीब 1500 करोड़ रुपए होता।

29 सप्ताह से बॉक्स ऑफिस का कलेक्शन जीरो

अन्य हिंदी फिल्में 1500-1700 करोड़ कमातीं

राज बंसल की मानें तो हर सप्ताह एवरेज दो मीडियम और छोटे बजट की फिल्में रिलीज होती हैं, जो एवरेज 25-30 करोड़ रुपए की कमाई करती हैं। ऐसे में अगर 29 सप्ताह (30 September तक) का हिसाब निकालें तो ऐसी लगभग 58 फिल्में पर्दे पर आतीं और इनकी कुल कमाई करीब 1500-1700 करोड़ होती।

करीब 1500 करोड़ तमिल-तेलुगु के अटके

बंसल बताते हैं कि तालाबंदी के दौरान तमिल और तेलुगु की भी कई बड़ी फिल्मों की रिलीज टली है। अगर ये फिल्में रिलीज हो गई होतीं तो इनकी कमाई लगभग 1500 करोड़ रुपए की कमाई होती।

2020 में अब तक सिर्फ 73 दिन खुले सिनेमाघर

2020 में अब तक सिनेमाघर सिर्फ शुरुआत के 73 दिन खुले थे। इस दौरान बॉक्स ऑफिस पर करीब 824 करोड़ रुपए का कलेक्शन हुआ था। हालांकि, सिर्फ एक ही फिल्म हिट रही थी और वह थी अजय देवगन स्टारर ‘Tanhaji : The Unsung Warrior’, जिसने बॉक्स ऑफिस पर करीब 280 करोड़ रुपए की कमाई की थी।

सारा अली खान-श्रद्धा कपूर, रकुल प्रीत से होगी पूछताछ, समन भेजेगी NCB

Related posts

Leave a Comment