‘जनवरी से भारत में शुरू होगा कोरोना वैक्सीनेशन, अक्टूबर तक सभी को मिल सकती है डोज’

भारत में कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत अगले साल जनवरी से हो सकती है और अक्टूबर तक सभी देशवासियों को वैक्सीन की खुराक मिल सकती है. यह दावा है सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के CEO अदार पूनावाला का. उनका कहना है कि उनकी कंपनी को इस महीने के अंत तक वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत मिल सकती है.
सीरम इंस्टीट्यूट (Serum Institute) के CEO अदार पूनावाला ने कहा कि हमें उम्मीद है कि अक्टूबर 2021 तक भारत में सभी का टीकाकरण हो जाएगा, जिसके बाद सामान्य जीवन फिर से शुरू हो सकता है. उन्होंने कहा, ‘इस महीने के अंत तक हमें एक इमरजेंसी लाइसेंस मिल सकता है, लेकिन व्यापक उपयोग के लिए लाइसेंस बाद में मिल सकता है.’
अदार पूनावाला ने कहा कि, ‘हमें विश्वास है कि यदि नियामक एक अच्छा संकेत देते हैं, तो भारत का टीकाकरण अभियान जनवरी 2021 तक शुरू हो सकता है. जिस दिन भारतीय आबादी के 20 प्रतिशत लोगों को कोरोनवायरस वायरस का टीका लग गया, उससे आत्मविश्वास और भावनाओं का पुनरुत्थान होगा.’

सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा कि अगले साल सितंबर-अक्टूबर तक उम्मीद है कि सभी के लिए पर्याप्त टीके होंगे और सामान्य जीवन फिर से पटरी पर लौट आएगा. आपको बता दें कि पिछले दिनों ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India)  का दौरा किया था और कोरोना वैक्सीन की तैयारी की समीक्षा की थी.

इस दौरे से पहले सीईओ अदार पूनावाला ने कहा था कि उनकी कंपनी का फोकस है कि एस्ट्राजेनेका (AstraZeneca) की वैक्सीन सबसे पहले भारत में दें. उसके बाद दुनिया के अन्य देशों में सप्लाई करें. सीरम इंस्टीट्यूट एस्ट्राजेनेका दवा कंपनी की वैक्सीन का उत्पादन भारत में कर रही है.

PM मोदी ने कहा- ‘नए कानूनों से किसानों के लिए नए विकल्प खुलेंगे, वो टेक्नोलॉजी से जुड़ेंगे’

Related posts

Leave a Comment