कलकत्ता हाई कोर्ट ने बदला अपना फैसला, अब पंडालों में हो सकेगी 45 लोगों की एंट्री

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में अब दुर्गा पूजा के लिए पंडालों में 45 लोगों को एक साथ एंट्री मिल सकेगी. कलकत्ता हाई कोर्ट ने आज नया आदेश पारित किया है. इससे पहले कोरोना वायरस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए हाई कोर्ट ने सोमवार को दुर्गा पूजा (Durga Puja) के पंडालों में लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी थी.

हालांकि हाई कोर्ट (High Court) ने कहा है कि छोटे पंडालों के लिए प्रवेश द्वार से 5 मीटर की दूरी पर बैरिकेड लगाने होंगे, जबकि बड़े पंडालों के लिए यह दूरी 10 मीटर होनी चाहिए. विशेषज्ञों और डॉक्टरों ने आशंका जतायी थी कि इस उत्सव में लापरवाही से वायरस का प्रकोप बढ़ सकता है.

कोरोना को लेकर जागरुकता फैलाएगी पुलिस

पीठ ने आदेश दिया कि योजना में सूचीबद्ध दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन किया जाए. अदालत ने पुलिस को अपने आदेश के बारे में लोगों के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए एक अभियान शुरू करने को भी कहा. अदालत ने कोलकाता (Kolkata) और अन्य स्थानों पर प्रमुख बाजारों और मॉलों में एकत्र होने वाली बड़ी भीड़ और सामाजिक सुरक्षा की उपेक्षा पर चिंता जताई थी.

बता दें कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) में अब तक कोरोना वायरस के 3.2 Lakh मामले सामने आ चुके हैं और इस बीमारी के कारण 6100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

मुंबई से दिल्ली का सफर तय कर ‘बाबा का ढाबा’ पर पहुंचे अपारशक्ति खुराना, किया ये काम

Related posts

Leave a Comment