बिहार में प्रचार से लौटीं अमीषा पटेल ने कहा- ‘मुझे धमकाया गया, मेरा रेप हो सकता था’

बॉलीवुड एक्ट्रेस अमीषा पटेल (Ameesha Patel) का एक ऑडियो मैसेज वायरल हो रहा है जिसमें वह बता रही हैं कि किस तरह उन्हें बिहार में बहुत ज्यादा असुरक्षित महसूस हुआ. वो इस ऑडियो में LJP नेता प्रकाश चंद्रा (Prakash Chand) के कैंपेन के सिलसिले में बात कर रही हैं. आज तक ने Ameesha से इस सिलसिले में बात की और इस ऑडियो का सच जाना. Ameesha ने आज तक के साथ बातचीत में चौंकाने वाले तथ्यों का खुलासा किया है.

उन्होंने कहा, “मैं बस इतना ही कह सकती हूं कि मैं एक मेहमान के तौर पर डॉ. प्रकाश चंद्रा के यहां गई थी. वह बहुत खतरनाक इंसान हैं. वह लोगों को ब्लैकमेल करते हैं और उन्हें धमकाते हैं… उन्होंने मुझे और मेरी टीम को भी बुरी तरह धमकाया और बुरा बर्ताव किया…और यहां तक कि जब मैं बीती शाम मुंबई वापस आ गई तो उन्होंने मुझे धमकी भरे मैसेज और कॉल करने शुरू कर दिए कि मैं उनके बारे में सम्मानपूर्वक बात करूं, क्योंकि मैं 26 अक्टूबर के अपने अनुभव के बारे में बहुत ईमानदार रही थी.”

अमीषा को मिली गांव में छोड़ने की धमकी

अमीषा ने बताया कि उन्होंने मुझे धमकाया कि मैं पटना से उनके 3 घंटे के कैंपेन में उनके साथ रहूं. मुझे उसी दिन शाम को फ्लाइट पकड़नी थी लेकिन उन्होंने मुझे ऐसा नहीं करने दिया. बल्कि मुझे एक गांव में रखा और धमकी दी कि अगर मैं उनकी बात नहीं मानी तो वह मुझे वहीं पर छोड़ जाएंगे.

अमीषा को आते थे धमकी भरे कॉल

एक्ट्रेस ने बताया, “उन्होंने मुझे बीती रात भी ब्लैकमेल किया है कि मैं तुम्हारे खाते में पैसे भेज दूंगा लेकिन लोगों से मेरे बारे में अच्छी बातें कहो. मुझे बस हां, हां, कहकर फोन काटना होता था क्योंकि वो मेरे पूरे स्टाफ और ऑफिस के लोगों को पूरे दिन फोन कर रहे थे और मुझे बात करने की जिद करते हुए धमकियां दे रहे थे. वह आज भी लगातार फोन कर रहे थे.”

“मैंने अपनी पूरी टीम से कहा कि प्यार से हां, हां कहते हुए सम्मानजनक ढंग से फोन काट दिया करो. क्योंकि वह एक वास्तविक ठग है और एक गुंडे की तरह बर्ताव करता है इसलिए मेरे लिए ये किसी डरावने सपने से कम नहीं था. मुझे उनके और उनके साथ मौजूद लोगों की वजह से मेरे और मेरी टीम के लिए जान का खतरा महसूस होने लगा था, तो मेरे पास शांत रहकर उनकी कही बातों को फॉलो करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था जब तक कि मैं मुंबई नहीं पहुंच गई.”

अमीषा ने बताया कि उन्होंने मुझे धमकी दी कि वह मुझे पटना से तीन घंटे की दूरी पर मौजूद उस गांव में छोड़कर चले जाएंगे अगर मैंने उनकी बात नहीं मानी. तो मेरे पास कोई विकल्प नहीं था. मैं शांत रही क्योंकि मैं बिहार में थी, लेकिन जब मैं मुंबई आ गई तो मुझे दुनिया को सच बताना था. मेरा रेप हो सकता था और मेरी हत्या हो सकती थी. मेरी गाड़ी को पूरे वक्त उनके लोगों ने घेर कर रखा था, और जरा भी चलने नही दे रहे थे जब तक कि मैंने वो सब नहीं किया जो उन्होंने कहा था.

निकिता की हत्या से गुस्से में देश: आखिर हिंदुओं के धैर्य की परीक्षा कब तक?

Related posts

Leave a Comment