Farmers Protest: किसानों और केंद्र के बीच 7वें दौर की बातचीत आज, सरकार दे सकती है ये फॉर्मूला

नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन 40वें दिन भी जारी है और किसान लगातार कानूनों की वापसी की मांग कर रहे हैं. इस बीच किसान संगठनों और सरकार के बीच आज दोपहर 2 बजे दिल्ली के विज्ञान भवन में 7वें दौर की बातचीत होगी.

6ठे दौर की बातचीत में इन 2 मुद्दों पर बनी थी बात

कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान और केंद्र सरकार के बीच 30 दिसंबर को 6ठे दौर की बाचतीच हुई थी. लगभग 5 घंटे चली बैठक में बिजली दरों में वृद्धि और पराली जलाने पर दंड को लेकर किसानों की चिंताओं को हल करने के लिए कुछ सहमति बनी, लेकिन 2 बड़े मुद्दों पर गतिरोध बना रहा. किसानों की मांग है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) के लिए कानूनी गारंटी दी जाए और तीनों नए कृषि कानूनों को रद्द किया जाए.

किसानों को सरकार दे सकती है ये फॉर्मूला

किसानों और केंद्र के बीच 7वें दौर की बातचीत में सरकार बीच का रास्ता निकालने के लिए फॉर्मूला पेश कर सकती है. सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी MSP पर लिखित भरोसा देने के विकल्प पर विचार कर रही है. इसके अलावा तीनों कानूनों को रद्द करने के मुद्दे पर सरकार समीक्षा के लिए कमेटी बनाने का प्रस्ताव दे सकती है और इस कमेटी में किसान संगठनों को ज्यादा प्रतिनिधित्व दिया जा सकता है.

13 जनवरी को कानूनों की प्रतियां जलाएंगे किसान


किसान नेता मनजीत सिंह राय ने कहा, ‘हम 13 January को नए कानूनों की प्रतियां जलाकर लोहड़ी (Lohri) का त्योहार मनाएंगे.’ राय ने लोगों से अपील की कि वे छह से लेकर 20 January तक किसानों के समर्थन में देशभर में धरना-प्रदर्शन आयोजित करें. उन्होंने कहा कि वे नेताजी Subhash Chandra बोस की जयंती के मौके पर 23 January को ‘आजाद हिंद किसान दिवस’ के रूप में मनाएंगे.

कितने में मिलेगी Corona Vaccine, सीरम इंस्टीट्यूट ने किया कीमतों का ‘खुलासा’

Related posts

Leave a Comment