कोरोना-काल में चेहरे पर मुंहासों के मामले बढ़े, मास्कने का खतरा

कोरोना-काल में चेहरे पर मुंहासों के मामले बढ़े

दुनिया में एक नया शब्द “मास्कने” सामने आया है, कोरोनावायरस महामारी के बीच कोरियन स्किन कंपनियों ने “मास्कने एजेंशियल्स” नाम से कलेक्शन रिलीज किए हैं। इसका मतलब होता है मास्क पहनने से होने वाले मुंहासे या चेहरे पर जलन हो सकती है। येल स्कूल ऑफ मेडिसिन में डर्मेटोलॉजी की एसोसिएट क्लीनिकल प्रोफेसर डॉक्टर मोना गोहरा भी अपने तीन लेयर मास्क के कारण मास्कने से जूझ रही हैं। मास्कने का सबसे ज्यादा खतरा हेल्थकेयर वर्कर्स और दूसरे फ्रंटलाइन वर्कर्स को हो सकता है। क्योंकि ये सभी टाइट मास्क को काफी लंबे…

Read More

30 दिनों के अंदर भारत में 3 लाख से ज्यादा केस, कोरोना मंथ बना जून

30 दिनों के अंदर भारत में 3 लाख से ज्यादा केस

देखा जाए तोह जून में कोरोना वायरस का संक्रमण पूरे भारत में तेजी से बढ़ते जा रहा है. देश में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 4,57,656 पहुंच चुकी है. इनमें 1,83,953 एक्टिव केस हैं, जबकि 2,59,143 मरीज रिकवर हो गए हैं. अब तक कोरोना से देशभर में कुल 14,505 मौत हुई हैं. पूरी दुनिया में कोरोना मरीजों की संख्या में भारत चौथे स्थान पर पहुंच चूका है, हैरानी की बात ये है कि यहां पिछले 30 दिन में ही सवा 3 लाख से ज्यादा कोरोना केस आए हैं. केंद्रीय…

Read More

आयुष मंत्रालय ने कोरोना के पॉजिटिव मरीजों पर पहली बार क्लीनिकल ट्रायल शुरू किया

आयुष मंत्रालय ने कोरोना के पॉजिटिव मरीजों पर पहली बार क्लीनिकल ट्रायल शुरू किया

राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान जयपुर के जरिए भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने कोरोना के पॉजिटिव मरीजों पर पहली बार जयपुर में आयुष-64 का क्लीनिकल ट्रायल शुरू किया है. भारत सरकार के आयुष मंत्रालय के अधीन काम करने वाला राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान ने कोरोना को लेकर चार दवाइयां बनाई हैं जिनमें से एक का नाम है आयुष-64। यह क्लिनिकल ट्रायल कोविड-19 के प्रथम स्टेज के मरीजों पर जयपुर के एक निजी अस्पताल में किया जायेगा. आयुर्वेद संस्थान के निदेशक का कहना है कि यह दवा पहले हम लोग मलेरिया के लिए देते…

Read More