BigBasket से 2 करोड़ यूजर्स का डेटा लीक: ज़िम्मेदार कौन? कौन करेगा भरपाई?

BigBasket: चीनी कंपनी Ali Baba बैक्ड बंगलुरू की कंपनी BigBasket के लगभग 2 Crore यूज़र्स का संवेदनशील डेटा लीक हो गया है. इसमें नाम, फ़ोन नंबर, ऐड्रेस, लोकेशन और यूज़र आईडी शामिल हैं.  हाल ही में सुने में आया था की Unacademy और Dr Reddy’s फ़रमा का डेटा भी लीक हुआ था. यूज़र्स को इस डेटा लीक के बाद कंपनियों की तरफ़ से क्या मिला? क्या इन कंपनियों पर कोई ऐक्शन लिया गया?

Big Basket यूजर्स का डेटा डार्क वेब में बेचा जा रहा है. डार्क वेब में ये डेटा क्यों बिक रहा है और इसे कौन खरीद रहा है? जाहिर है जो आपका डेटा पैसे दे कर खरीद रहे हैं वो किसी न किसी तरीके से इस डेटा से फायदा उठाएंगे.

डेटा लीक से यूज़र्स का भारी नुक़सान
डेटा से फ़ायदा उठाने का मतलब सीधे तौर पर अगर आप बिग बास्केट के यूज़र्स हैं तो आपका नुक़सान होगा. ये नुक़सान कई तरह से हो सकता है और शायद इसका असर जल्दी देखने को न मिले. लेकिन लॉन्ग टर्म इफ़ेक्ट काफ़ी गंभीर दिख रहे है. हैकर के पास आपका नाम है, लोकेशन है, ऐड्रेस है, फ़ोन नंबर है और इस आधार पर हैकर्स के लिए कई चीज मुमकिन है. इन सब जानकारियों के बल पर वो आपकी कुछ और जानकारी कलेक्ट करके आपको कई तरीक़े का नुक़सान पहुँचा सकते हैं.
डेटा लीक का ज़िम्मेदार कौन?
आम तौर पर जब भारतीय कंपनियों की तरफ़ से यूज़र का डेटा लीक होता है तो ये कंपनियाँ पल्ला झाड़ लेती हैं. Bigbasket ने भी FIR दर्ज करा दिया है, लेकिन अब ये साफ़ नहीं है कि डेटा लीक कैसे हुआ? ये भी क्लियर नहीं है कि ये 2 करोड़ यूज़र्स की डीटेल्स लीक हो चुकी हैं इसकी वजह क्या थी? क्या Big Basket का यूजर डेटाबेस सिक्योर नहीं था? एन्क्रिप्टेड नहीं था? या फिर हैकर्स ने जानबूझ कर BigBasket को टार्गेट किया है?
Cyber Security Firm Cyble के मुताबिक़ रूटीन डार्क वेब मॉनिटरिंग के दौरान Big Basket का डेटा बिकते हुए पाया गया. ये लीक्ड डेटा 15GB का और इसमें यूजर्स की संवेदनशील जानकारियां हैं.

Related posts

Leave a Comment