गाड़ी चलाने के दौरान फोन पर बात करने वालों पर 10,000 रुपए की पेनल्टी, योगी सरकार का नया नियम

उत्तर प्रदेश की सीएम आदित्यनाथ सरकार ने ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों के लिए जुर्माने की राशि को दोगुने तक बढ़ा दिया है। अब बिना हेलमेट के बाइक और बिना सीट बेल्ट के कार चलाने वालों को भारी-भरकम चालान तक भरना पद सकता है। गौरतलब है कि इससे पहले ही केंद्र सरकार ने मोटर वाहन संशोधन कानून के जरिए देशभर में ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन पर जुर्माने की राशि को बढ़ाया था। अब इसके बाद 1 साल बाद यूपी में इसे बढ़ाया गया है। यूपी सरकार ने सबसे कड़ा नियम फोन पर बात करते हुए गाड़ी चलाने वालों के लिए निर्धारित किया है जोकि 10,000 है। जहां पहले इस उल्लंघन के लिए 1000 रुपए का जुर्माना लगता था, वहीं अब जुर्माना 10 गुना तक बढ़ा दिया गया है।

गाड़ी चलाने के समय फोन पर बात करने वालों पर 10,000 का जुर्माना

यानी अब गाड़ी चलाने के दौरान फोन पर बात करने वालों पर 10,000 रुपए की पेनल्टी लगाई जाएगी। नए नियमों के मुताबिक:-

  • अब बिना हेलमेट के दोपहिया वाहन चलाने पर 500 रुपए की जगह 1000 रुपए जुर्माना.
  • बिना सीट बेल्ट के कार चलाने पर भी जुर्माने की राशि इतनी ही होगी.
  • एंबुलेंस और फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को रास्ता न देने पर भी 10 हजार रुपए की पेनल्टी का प्रावधान किया गया है.
  • दूसरी तरफ अगर कोई व्यक्ति दो बार नो-पार्किंग जोन में कार खड़ी कर देता है, तो उन्हें 1500 रुपए जुर्माना भरना होगा.
  • गैरकानूनी बदलाव के साथ गाड़ी बेचने पर 1 लाख का जुर्माना.
  • अधिकारी की बात नही मानने व उसके काम मे बाधा डालने पर पहले जुर्माना 1000 था अब 2000 रुपए देना होगा.
  • ड्राइविंग लाइसेंस में गलत जानकारी देने के लिए अब 10 हजार रुपए का चालान ठोका जाएगा, पहले इसके लिए 2500 रुपए लगते थे.

भारत की हवा खराब! 5 साल कम हो रही जिंदगी

Related posts

Leave a Comment